क्या आप जानते है बिस्तर की दिशा भी प्रभावित करती है आपके जीवन को?

773.jpg

लेखिका : रजनीशा शर्मा

हिन्दू धर्म में जीवन के सभी पहलुओं को विस्तार से अध्ययन किया जाता है | घर में होने वाली गतिविधिया आपके जीवन को किस प्रकार प्रभावित करती है इन सभी बातो को हम वास्तु से विस्तारपूर्वक समझ सकते है | आइये जानते है की आपके बिस्तर की दिशा आपके जीवन को किस प्रकार प्रभावित करती है -

 

1 - नवविवाहित जोड़े के कमरे और उनके बेड की दिशा सदैव  उत्तर  दिशा होनी चाहिए | उत्तर दिशा को प्रेम और काम की दिशा माना जाता है | ऐसा करने से पति पत्नी के बीच के संबंध अच्छे रहते है और प्रेम संबंध भी प्रगाढ़ होते है |

 

2 - यदि आप अपने बेड को दक्षिण पूर्व दिशा में रखेंगे अर्थात सिर दक्षिण पूर्व दिशा में हो तो घर में आर्थिक उन्नति के मार्ग प्रषत्र होता है |  व्यापार एवं नौकरी में उन्नति के लिए बेड के सिर की दिशा दक्षिण पूर्व होनी चाहिए |

 

3 - घर में पारस्परिक संबंधो में प्रगाढ़ता के लिए बेड की दिशा पश्चिम में रखे | बेड को कमरे की पश्चिम दिशा में रखने पर पारिवारिक खुशियों में वृद्धि होती है |

 

4 - बेड की दिशा कमरे में कभी भी ऐसी ना रखे जिससे सोते समय पैर या सिर दरवाजे की ओर हो ऐसा करने से घर में आने वाली लक्ष्मी एवं खुशिया आपके पैर देख कर लौट जाएंगी |

 

5 - आज कल घरो में पाश्चात्य संस्कृति के बढ़ते प्रभाव के कारण शौचालय कमरे में ही बनाने की प्रथा प्रारम्भ हो गयी है ऐसा करना वैसे तो उचित नहीं है किन्तु ऐसा होने पर एक बात का विशेष ध्यान रखे की आपके बेड की दिशा ऐसी ना हो की आपका सिर या पैर शौचालय की तरफ हो ऐसा करना वास्तु दोष माना जाता है |