बारह राशियों से व्यवसाय का निर्धारण!

319.jpg

लेखक: सोनू शर्मा

शिक्षा और योग्यता के साथ ग्रह और राशियाँ भी व्यवसाय के निर्धारण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। ग्रह व राशि के कारकत्वों के अनुसार व्यक्ति के व्यवसाय का पता चलता है की उसके लिए कौन का व्यवसाय ठीक रहेगा -

मेष राशि मंगल कारक होने से सेना, पुलिस, मिलिट्री, इंजीनियरिंग, चिकित्सक, वकील तथा अग्नि सम्बन्धी व्यसाय में सफलता मिल सकती है ।

वृष राशि के जातक के लिए कला, सजावट, चित्रकारी, सिनेमा, नृत्य, गायन, अभिनय, सौन्दर्य पदार्थ आदि व्यवसाय लाभदायक होता है ।

मिथुन राशि के जातक के लिए रिपोर्टर, संपादन, लेखक तथा बैंक व्यवसाय अच्छा रहता है ।

कर्क लग्न वालों के लिए डेरी फार्म, बेकरी, बर्फ, रसायन, कंसलटेंट, आदि का व्यवसाय अच्छा रहता है ।

सिंह लग्न वालें जातक औषधि, कपडा, रुई, कागज, स्टेशनरी, जमीन से प्राप्त पदार्थ, ज्वेलरी, आदि का व्यवसाय कर सकते हैं।

कन्या राशि वालों को रुपयों के लेन देन का कार्य, ज्योतिष, शिक्षक, कलाकार, शिल्पकला आदि के व्यवसाय में लाभ मिलता है ।

तुला लग्न के जातको को टाइपिस्ट, पशुओं से उत्पन वस्तुए, अकाउंटेंट, क्लर्क, मनोचिकित्सक आदि का व्यवसाय अपनाना चाहिए, ये इनके लिए शुभ रहता है।

वृश्चिक लग्न वालों के लिए टेलीफोन, घड़ी, रेडियो, जासूस, वकील, भवन निर्माण, केमिस्ट इत्यादि व्यवसाय शुभ रहते है ।

धनु लग्न वालें कमिशन एजेंट, आयात-निर्यात, चमड़े का व्यापार, लेखक, कानून, शिक्षा विभाग के व्यवसाय अपना सकते है ।

मकर राशि के जातक को कृषि, वन उत्पाद, बागवानी, ठेकेदारी, सट्टा तथा बिजली का काम करना चाहिए ।

कुम्भ राशि के जातक वायुयान, मैकेनिक, पेंटर, बिजली उपकरण तथा उपचारक आदि का व्यवसाय कर सकते हैं।

मीन राशि वाले व्यक्ति अनाज, मछली, क्लब संचालन, कवी, सर्जन, नर्स, जेलर आदि काम कर सकते हैं।