अपनी जन्म कुंडली से जाने एम बी ए (MBA) के योग!

339.jpg

लेखक: सोनू शर्मा

हर व्यक्ति चाहता है की उसकी शिक्षा अच्छी हो तथा वह ऐसे कैरियर को चुने जिसमे उसे अच्छा पैसा मिले तथा वह व्यवसाय उसे प्रसिद्धि दिलाये । आजकल एम बी ए भी एक ऐसा ही कैरियर है जो प्रचलन में है । एम बी ए फाइनेंस, मार्केटिंग तथा मानव रिसोर्सेज आदि विषयों में किया जाता है । यदि कुंडली में बुध उच्च का तथा शुभ स्थिति का होकर लग्न से सम्बन्ध बनाये तो जातक की रूचि एम बी ए में होती है ।

जानते है ऐसे ही कुछ और योगों के बारे में –

1) कुंडली में दसवें भाव का स्वामी बुध के साथ नवम में हो या बुध लग्न में स्थित हो या बुध पंचम या नवम भाव में स्थित हो तो व्यक्ति एडमिनिस्ट्रेशन में जाता है ।

2) यदि किसी व्यक्ति का मिथुन लग्न हो या कन्या लग्न हो तो उनके लिए यह अच्छा कैरियर होता है ।

3) यदि किसी की कुंडली में दशम भाव में मंगल अपनी राशि में शनि से युति करे तो ऐसा

जातक अच्छा प्रबंधक हो सकता है ।

4) बुध केंद्र में स्थित हो तथा शुक्र त्रिकोण में स्थित होकर राशि परिवर्तन करे या दृष्टि सम्बन्ध बनाए तो उस व्यक्ति को यह कैरियर अट्रैक्ट करता है ।

5) बुध के साथ शनि व मंगल शुभ हो एवं योगकारक हो तो व्यक्ति इंजीनियर के साथ साथ एम बी ए भी करता है ।

6) यदि कुंडली में बुध और गुरु लग्नेश या दशमेश में हो तथा वह लग्न भाव में, पंचम भाव में, नवम भाव में या दशम भाव में राशिपरिवर्तित करे या बुध गुरु इन स्थानों पर एक साथ बैठे तो वह व्यक्ति एम बी ए का व्यवसाय अपनाता है ।